ऐसे होते है, सच्चे और झूठे व्यक्तिओ के गुण।

सच्चे और झूठे व्यक्तिओ के गुण कैसे होते है। उन दोनों में अंतर क्या है।

 Image : Pixabay
  • सच्चाय कभी नहीं मिटती, सच्चाय अमर होती है। झूठ ज्यादा समय तक टिक नहीं सकता। झूठ का टाइम बहुत कम होता है।
  • जो व्यक्ति हमेसा सच बोलता है, झूठ कभीभी नहीं बोलता उसे लोग हमेसा बहुत पसंद करते है। झूठ बोलने वाले को कोई पसंद नहीं करता।
  • जो व्यक्ति सच बोलता है और ईमानदार है तो लोग हमेसा उसपर भरोसा करते है। जो व्यक्ति झूठ बोलता है, और बेईमान है, वो धोखेबाज होता है, उसपर लोग भरोसा नहीं करते।
  • जो व्यक्ति सच बोलता है, उसके मनमे कभीभी दर नहीं रहता है, उसका मन हमेसा फूलों की तरह कोमल रहता है। जो व्यक्ति झूठ बोलता है, उसके मन में दर हमेसा रहता है।
  • सच हमेसा याद रह जाता है, और झूठ को याद रखना पड़ता है।
  • सच्चे व्यक्ति हमेसा याद रह जाते है और भुलाए नहीं भूला सकते। और बुरे व्यक्ति की याद भी आ जाए तो उस याद को भुला देना काफी अच्छा लगता है।
  • सच्चा व्यक्ति कही पर भी जाए, उसकी इज्जत लोग जरुर करते है। बुरा व्यक्ति जहा भी जाए, उसकी कोई इज्जत नहीं करता। और उससे लोग संभल कर रहना पसंद करते है।
  • सच्चा व्यक्ति कही पर भी जाए वो इमानदारी से काम करता है। और तरक्की भी बहुत करता है। और बुरा व्यक्ति कही पर भी जाए वो बेयमानी से काम करता है। और कामचोर होता है। बुरा व्यक्ति कभीभी तरक्की नहीं कर पाता है।
  • सच्चे इंसान के चेहरे पे कुछ अलगसी चमक होती है। और बुरे व्यक्ति के चेहरे पे ख़राब भाव दिखाय देते है।
  • सच्चे व्यक्ति के बहुत सारे सच्चे दोस्त होते है। और एक दुसरे पे काफी भरोसा रखते है। और हमेसा एक दुसरे की हमेसा मदद करते रहते है। बुरे व्यक्ति के बुरे दोस्त होते है। बुरे व्यक्ति कभी एक दुसरे पे भरोसा नहीं कर सकते है। बुरे लोग मतलबी होते और अपने फायदे के लिए अपने दोस्त को धोखा भी दे सकते है।
ये भी पढ़े :